Indian Republic Day Shayari Images

वतन हमारा ऐसा कोई न छोड़ पाये रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये दिल एक है एक है जान हमारी हिंदुस्तान हमारा है हम इसकी शान है!!

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई, मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता !!

नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई, मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता!!

आजादी का जोश कभी काम न होने देंगे जब भी जरुरत पड़ेगी देश के लिए जान लूटा देंगे क्योंकि भारत हमारा देश है अब दोबारा इस पर कोई आंच न आने देंगे जय हिन्द!!

ये बात हवाओ को बताये रखना, रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना, लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की… ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना!!

वो फिर आया है नये सवेरे के साथ, मिल ज़ुल कर रहेंगे हम एक दूजे के साथ, वो तिरंगा कितना प्यारा है, वो है देखो सबसे प्यारा न्यारा, आने ना देंगे उस पे आंच!!

भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान; दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान; सब धर्मों को देकर मान रचा गया इतिहास; इसीलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास!!

आओ देश का सम्मान करे शहीदो की शहादत याद करे एक बार फिर से राष्ट्रा की कमान.. हम हिन्दुस्तानी अपने हाथ धरे.. आओ.. गन्तन्त्र दिवस का मान करे!!

“ये नफरत बुरी है ना पालो इसे, दिलों में नफरत है निकालो इसे, ना तेरा, ना मेरा, ना इसका, ना उसका, ये सब का वतन है बचालो इसे!! जय हिन्द जय भारत वन्दे मातरम्

आज़ादी की कभी शाम ना होने देगे, शहीदो की कुर्बानी बदनाम ना होने देगे, बची है जो 1 बूँद भी लहू की तो, भारत मा का आँचल नीलम ना होने देगे!! हॅपी रिपब्लिक डे 2019

ना जियो धर्म के नाम पर, ना मरों धर्म के नाम पर, इंसानियत ही है धर्म वतन का, बस जियो वतन के नाम!!

तिरंगा हमारा है शान-ए-जिंदगी, वतन परस्ती है वफ़ा-ए-जिंदगी, देश के लिए मर मिटना कबूल है हमें, अखण्ड भारत के स्वप्न का जूनून है हमें!!

नफरत बुरी है ना पालो इसे, दिलों में खलिश है निकालो इसे, न तेरा, न मेरा, न इसका न उसका, ये सबका वतन है संभालो इसे!!

See also  Friendship Status in Hindi | Friendship Shayari Images

आजादी का जोश कभी कम न होने देंगे, जब भी जरुरत पड़ेगी देश के लिए जान लूटा देंगे, क्योंकि भारत हमारा देश है,
अब दोबारा इस पर कोई आंच न आने देंगे!!

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें, शहीदों के दिलो में थी जो वो ज्वाला याद कर लें, जिसमें बहकर आजादी पहुची थी किनारे पे, देशभक्ति के खून की वो धारा याद कर लें!!

कुछ नशा तिरंगे की आन का है, कुछ नशा मातृभूमि की शान का है, हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा, नशा ये हिंदुस्तान के सम्मान का है!!

चलो फिर से खुद को जगाते है, अनुसासन का डंडा फिर घुमाते है, सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से, ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है!!

वो शमा जो काम आये अंजुमन के लिए, वो जज्बा जो कुर्बान हो जाये वतन के लिए, रखते है हम वो हौसले भी जो मर मिटे हिंदुस्तान के लिए!!

मेरे हर कतरे-कतरे में हिंदुस्तान लिख देना, और जब मौत हो, तन पे तीरंगे का कफन देना, यही ख्वाहिश खुदा हर जन्म हिन्दुस्तान वतन देना, अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना!!

मेरे देश का मान हमेशा बनाये रखूँगा, दिल तो क्या जान भी इस पर न्योछावर करूँगा, अगर मिले मौका देश के काम आने का, तो बिना कफ़न के ही देश के लिए सो जाऊंगा!!

अलग है भाषा, धर्म जात और प्रान्त, भेष, परिवेश पर हम सब का एक है गौरव राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेष्ठ गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!!

भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान, दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान, सब धर्मो को देकर मान रचा गया इतिहास का, इसलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास!!

तैरना है तो समंदर में तैरो नदी नालों में क्या रखा है, प्यार करना है तो वतन से करो इस बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है || गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!!

चलो फिर से खुद को जागते है, अनुसासन का डंडा फिर घुमाते है, सुनहरा रंग है गणतंत्र का सहिदो के लहू से, ऐसे सहिदो को हम सब सर झुकाते है!!आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

See also  Shayari in English

“ये बात हवाओ को बताये रखना, रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना, लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की… ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना!!

“वतन हमारा ऐसा कोई न छोड़ पाये, रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये, दिल एक है एक है जान हमारी, हिंदुस्तान हमारा है हम इसकी शान है!! Happy Republic Day

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा, ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा, पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए, कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये!!

मै भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ, यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ, मुझे चिंता नही है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ!!

दूध मांगोंगे खीर दे देंगे, दूध मँगोगे खीर दे देगे कश्मीर मांगने की सोची न, भारत माता की कसम हर जगह से चीर देंगे!!

भारत माता का बेटा हूँ हल्के में न लेना| भारत माता की तरफ गंदी नजर उठाने से पहले एक बार मुझसे जरूर मिल लेना!!

खून से लिखी कहानी है भारत के इतिहास की, ये मेरी नहीं खुद भारत माता की जुबानी है, मेरी तो छोड़ ही दो, भारत की आजादी के पीछे न जाने कितनों की कुर्बानी है!!

महान देशभक्तों के बलिदान से आजाद हुए हैं हम, इसलिए उनके सम्मान में आज इकट्ठा हुए हैं हम!!

दुश्मन की गोलियों का हम करेंगे सामना, जो बुरी नजर रखे भारत पर, भारत माता की कसम उसका नामोनिशान है मिटाना!!

आओ झुक कर सलाम करे उनको, जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है, ख़ुसनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है!! हॅपी रिपब्लिक डे

दहर से क्यों खफा रहें, चर्ख का क्यों गिला करें सारा जहां अदू सही आओ मुकाबला करें!!

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है… सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाज़ु-ए-कातिल में है!!

See also  Love Shayari in English

ए शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत मैं तेरे ऊपर निसार… ए शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत मैं तेरे ऊपर निसार, अब तेरी हिम्मत का चरचा गैर की महफ़िल में है!!

शहीदों की मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले… शहीदों की मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा!!

यह नगर सौ मरतबा लूटा गया है… दिल की बर्बादी का क्या मज्कूर है यह नगर सौ मरतबा लूटा गया है!!

तुम तरस नहीं खाते, बस्तियाँ जलाने में… लोग टूट जाते हैं, एक घर बनाने में तुम तरस नहीं खाते, बस्तियाँ जलाने में!!

जला अस्थियाँ बारी-बारी… जला अस्थियाँ बारी-बारी चिटकाई जिनमें चिंगारी, जो चढ़ गये पुण्यवेदी पर लिए बिना गर्दन का मोल कलम, आज उनकी जय बोल!!

शहीदों की मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले… शहीदों की मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले वतन पर मरने वालों का यही बाकी!!

ऐ ज़मीं माँ तिरी ये उम्र तो आराम की थी… बोझ उठाए हुए फिरती है हमारा अब तक ऐ ज़मीं माँ तिरी ये उम्र तो आराम की थी!!

ख़ूँ शहीदान-ए-वतन का रंग ला कर ही रहा… ख़ूँ शहीदान-ए-वतन का रंग ला कर ही रहा आज ये जन्नत-निशाँ हिन्दोस्ताँ आज़ाद है!!

अलग है भाषा, धर्म जात, और प्रांत, भेष, परिवेश, पर हम सब का एक ही गौरव है, राष्ट्रध्वज तिरंगा श्रेठ!!

इस दिन के लिए वीरो ने अपना खून बहाया है, झूम उठो देशवासियो गणतंत्र दिवस फिर आया है | गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!!

मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए बस अमन से भरा यह वतन चाहिए जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये!!

देश भक्तो की बलिदान से स्वतंत्र हुए है हम कोई पूछे कोन हो तो गर्व से कहेंगे भारतीय है हम!!

लड़े जंग वीरों की तरह, जब खून खौल फौलाद हुआ मरते दम तक डटे रहे वो, तब ही तो देश आजाद हुआ!!

शम्मा-ए-वतन की लौ पर जब कुर्बान पतंगा हो, होठों पर गंगा हो और हाथों में तिरंगा हो!!

गांधी स्वपन जब सत्य बना देश तभी गणतंत्र बना जरा याद करों वीरो की कुर्बानी जिससे देश गणतंत्र बना!!Happy republic day 2020

Leave a Comment

x